God is Great

Once a man was on his way to a business. Along the way there were watermelon crops on both sides. Seeing the big watermelon on the small vine, he cursed God, 'Oh God, you have no pity, put such a big watermelon in this little vine, you must have thought something and moved on. 

For a long while he was walking on the way and there was plenty of thirst, it was noon. He thought he would take some rest after drinking the water, then move on. A little away he saw a well, went to the well, drank water and there was a big neem tree nearby, made up his mind to rest in its shadow. Seeing the neem fruit, he again got angry with God, atleast, you would have thought something, a melon on the vine and such a small fruit on such a big neem tree, you have really done injustice. 

Then he lay down. After some time neem fruit fell on his nose. Due to the pain, he shouted loudly, rubbing his nose and looking at the neem fruit, he said, "Oh God, there can be no mistake from you." I was wrong, who said you so much in ignorance. 

Everyone is perfect and beautiful on this universe because God makes no mistake. There are many people who find out the faults of others, even they do not leave God. Read More… 


एक बार एक आदमी अपने रास्ते पर किसी व्यवसाय के लिए जा रहा था। रास्ते के दोनों तरफ तरबूज की फसलें थीं। छोटी सी बेल पर बड़े-बड़े तरबूज को देखकर, वह भगवन को कोसने लगा, 'हे भगवान, आपको बिलकुल दया नहीं आई, इस छोटी सी बेल पर इतना बड़ा तरबूज लगा दिया, कुछ तो सोचा होता और आगे बढ़ता चला गया। 

चलते हुए काफी देर हो गयी थी और प्यास भी बहुत लगी थी, दोपहर का समय हो गया था। उसने सोचा पानी पीकर कुछ देर आराम कर लेता हुँ, फिर आगे जाऊंगा। कुछ दूर उसे एक कुंआ दिखाई दिया, वह कुए के पास गया पानी पीया और पास ही एक बड़ा नीम का पेड़ था, उसकी छाया में आराम करने का मन बनाया। नीम का फल देखकर वह भगवान् पर फिर झुंझलाया, कुछ तो सोंचा होता, वह एक बेल पर कितना बड़ा तरबूज और यहाँ इतने बड़े नीम के पेड़ पर इतना छोटा सा फल, आपने वाकई नाइंसाफी की हैं। 

उसके बाद वह लेट गया। कुछ ही देर हुई थी की नीम का फल ऊपर से आकर उसकी नाक पर पड़ा। दर्द की वजह से वह जोर से चिल्लाया, अपनी नाक सहलाते हुए वह नीम के फल को देखकर बोला, हे भगवान्, आपसे कोई गलती हो ही नहीं सकती। गलत तो मैं था, जो बिना सोचा समझे, आपको क्या-क्या कह दिया। 

इस ब्रह्मांड पर हर कोई परिपूर्ण और सुंदर है क्योंकि भगवान कोई गलती नहीं करता है। ऐसे कई लोग हैं जो दूसरों के दोषों का पता लगाते हैं, यहां तक कि वे भगवान को भी नहीं छोड़ते हैं। 


Comments

Popular posts from this blog

Does Time Fix Everything?

Sharad Navratri 2020 -2. Brahmacharini

Sharad Navratri 2020 -1. Shailputri